गुरुवार, 8 दिसंबर 2016

पछुआ हवाओं से कांप रहा पूरा बिहार, राजधानी 15 घंटे तक लेट

पटना (एन एन एन)।हिमाचल में हो रही बर्फबारी के वजह से उत्तर भारत के मैदानी इलाके ठंड की चपेट में हैं। जिस वजह से पूर्वी उत्तर प्रदेश में समुद्र तल से 1.5 किलोमीटर ऊपर बने साइक्लोनिक सिस्टम के कारण बिहार में ठंड अधिक पड़रही है।यूपी से आ रही पछुआ हवा के कारण राजधानी में तापमान नीचे गिर रहा है। बुधवार को वाराणसी का अधिकतम तापमान सामान्य से 11 डिग्री नीचे चला गया। वहां से रही हवाओं के कारण बिहार के पश्चिमी इलाकों में ठंड अधिक पड़ रही है। बक्सर, छपरा, गोपालगंज के इलाकों में ठिठुरन अधिक महसूस हो रही है।मौसम विज्ञान केंद्र पटना की उप-निदेशक अर्पिता रस्तोगी ने बताया कि प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में अगले तीन दिनों तक कोहरे का कहर जारी रहेगा। तापमान भी लुढ़केगा। विजिबिलिटी कम होने से बुधवार को पटना एयरपोर्ट पर कई विमानों की लैडिंग लेट हुई। राजधानी में बुधवार को तापमान नीचे गिरा। घने कोहरे के बाद दोपहर 12 बजे से धूप निकली। अधिकतम तापमान 24 घंटे से सामान्य से चार डिग्री नीचे चल रहा है। न्यूनतम तापमान दो डिग्री ऊपर चढ़कर 12.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। 27 डिग्री के साथ पूर्णिया सबसे अधिक और नौ डिग्री सेल्सियस के साथ सबौर सबसे ठंडा शहर रहा। 12 दिसंबर के बाद कंपकपी की शुरुआत होने के आसार हैं। वहीं, कोहरे की वजह से ट्रेनों और फ्लाइट्स पर भी काफी असर देखने को मिल रहा है। राजधानी एक्सप्रेस समेत एक दर्जन से अधिक ट्रेन काफी लेट रहीं। जबकि डाउन में संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस कैंसिल रही। नई दिल्ली से पटना सुबह 5.45 बजे आने वाली राजधानी 15 घंटे लेट से रात 9 बजे के बाद पटना जंक्शन पहुंची। ज्यादा लेट होने के कारण राजधानी को रीशिड्यूल कर गुरुवारसुबह 6 बजे खुलने के लिए रीशिड्यूल कर दिया गया।

बुधवार, 7 दिसंबर 2016

आपने देखा है 20 और 50 रुपये का नया नोट! फोटो वायरल

नई दिल्ली :2000 और 500 रुपये के नए नोट जारी करने के बाद आरबीआई ने 20 व 50 रुपये के नए नोटों को जारी करने की घोषणा कर दी है। हालांकि

मुख्यमंत्री की निश्चय यात्रा को ले जिलाधिकारी ने किया निरिक्षण

नवगछिया (एन एन एन): बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निश्चय यात्रा के संभावित कार्यक्रम को लेकर भागलपुर के जिलाधिकारी आदेश तितरमारे, उपविकास आयुक्त अमित कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी नवगछिया राघवेन्द्र सिंह सहित प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी सहित कई विभाग के अधिकारी आज धरहरा गाँव पहुंचे.

इस दौरान उन्होंने नवगछिया प्रखंड परिसर स्थित नवनिर्मित कौशल विकास भवन, लोक शिकायत निवारण विभाग एवं धरहरा गाँव का निरीक्षण किया. जिला पदाधिकारी ने निरीक्षण के उपरांत धरहरा के स्थानीय लोगों से उनके अनूठे परंपरा को लेकर कई घंटों तक जानकारी भी प्राप्त की . मालूम हो कि नवगछिया पुलिस जिला के अंतर्गत धरहरा गाँव बेटियों के जन्म होने के पश्चात वृक्षारोपण के लिए प्रसिद्ध है. पूर्व में भी नीतीश कुमार इस प्रकार के अनूठे परंपरा में शामिल हुए थे .

31 जनवरी तक कोचिंग संस्थान करा लें रजिस्ट्रेशन, नहीं तो होगी कार्रवाई

पटना (एन एन एन). सरकार कोचिंग संस्थानों पर नकेल कसने की तैयारी कर रही है. निजी कोचिंग संस्थान या निजी शिक्षण संस्थान संचालन को 31 जनवरी 2017 तक हर हाल में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. बिना रजिस्ट्रेशन कोई भी कोचिंग संस्थानों का संचालन नहीं हो सकेगा. तमाम प्राइवेट कोचिंग संस्थान तथा निजी शिक्षण संस्थान को राज्य सरकार ने एक बार फिर संस्थान निबंधन को ले अल्टीमेटम जारी किया है.

कोचिंग संस्थानों से कहा गया है कि वे तय समय सीमा तक निबंधन करा लें अन्यथा संस्थानों पर ताला लटकाने की तैयारी कर लें. निबंधन की सीमा 31 जनवरी तय की गई है. मंगलवार को शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने विभाग के प्रधान सचिव आरके महाजन, सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव व सभी निदेशकों के साथ बैठक कर इस मसले पर अंतिम सहमति बनाई.

साथ ही राज्यभर के मदरसों तथा संस्कृत स्कूलों की जांच के लिए मुख्यालय स्तर पर चार सदस्यीय टीम गठन का फैसला भी बैठक में लिया गया. तीन घंटे की मैराथन बैठक के बाद शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया कि शिक्षा विभाग ने शिक्षा में गुणवत्ता के लिए प्रारंभ किए गए ऑपरेशन क्लीन का दूसरा चरण प्रारंभ करने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 2010 में बिहार कोचिंग संस्थान (नियंत्रण एवं विनिमय अधिनियम) बनाया था. परन्तु इसके प्रावधान को कड़ाई से लागू नहीं किया जा सका. लेकिन अब 31 जनवरी तक की मोहलत दी गई है. इस अवधि में तमाम निजी कोचिंग संस्थानों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा. जो ऐसा नहीं करेंगे उनसे दंड वसूला जाएगा. उन्हें बंद भी किया जाएगा.

शिक्षा मंत्री डॉ अशोक चौधरी की अध्यक्षता में हुई विभागीय समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 10 या इससे कम छात्र वाले कोचिंग को रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं होगी.

बिहार कोचिंग नियमावली 2010 के अनुसार तीन वर्ष के निबंधन होता है. कोचिंग संस्थानों को अधिक फीस लेने से रोकना और छात्रों को अधिक फीस लेने से रोकना और छात्रों को बेहतर पढ़ाई उपलब्ध करवाना इस नियमावली काा उद्देश्य था. हालांकि नियमावली के पालन नहीं होने की लगातार विभाग को शिकायत मिल रही थी.

राज्यभर में लगभग 10 हजार कोचिंग संस्थान हैं. केवल पटना में एक हजार कोचिंग संस्थान है. नियमावली का उल्लंघन करने पर पहली बार पकड़े जाने पर 25 हजार रुपए हर्जाना देना होगा. दूसरी बार दोषी साबित होने पर एक लाख रुपये जुर्माना देना होगा. तीसरी बार भी लगातार दोषी पाए जाने पर कोचिंग संस्थान को बंद कर दिया जाएगा.

नवगछिया और कहलगांव में खुलेगा एएनएम स्कूल

भागलपुर (एन एन एन) : भागलपुर जिले के नवगछिया व कहलगांव अनुमंडल में एक एक एएनएम स्कूल खोला जाएगा. इसके अलावा जिला मुख्यालय में एक नर्सिंग कॉलेज खोला जायेगा. राज्य भर में 27 एएनएम स्कूलों के निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. उम्मीद है कि जिले के कहलगांव व नवगछिया में एएनएम नर्सिंग की पढ़ाई आगामी एक से दो साल में शुरू हो जायेगी. नर्सिंग काॅलेज के निर्माण पर 26 करोड़ जबकि एएनएम स्कूल के निर्माण पर छह करोड़ रुपये से अधिक की लागत आयेगी. 

जिले के सभी अनुमंडल स्तर पर एएनएम स्कूल खोलने के लिए पूर्व में स्वास्थ्य विभाग ने डायरेक्टर इन चीफ डॉ डी रंजन की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय कमेटी गठित की गयी थी. नवगछिया व कहलगांव अनुमंडल में एक-एक एएनएम स्कूल 40 से 60 सीट का खोला जायेगा.  हर एएनएम स्कूल खोलने में छह करोड़ 30 लाख 38 हजार रुपये की लागत आयेगी. इस स्कूल में नर्सों के लिए आवासीय भवन, क्लास रूम, उन्नत पुस्तकालय व कैंटीन होगा.

 
जानकारी के अनुसार जेएलएनएमसीएच के परिसर में नर्सिंग कॉलेज खोला जायेगा. इसमें 50-60 सीटों पर प्रवेश लिया जायेगा. एक नर्सिंग को खोलने में 26 करोड़ 49 लाख 76 हजार रुपये की लागत आयेगी. नर्सिंग कॉलेज में चार साल का बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई होगी.  हालांकि इसके लिए निर्माण प्रक्रिया को हरी झंडी नहीं मिली है.

भागलपुर के सिविल सर्जन डॉ विजय कुमार के अनुसार नवगछिया अनुमंडल कार्यालय परिसर व कहलगांव के अनुमंडल अस्पताल परिसर में एएनएम स्कूल के लिए जमीन सुरक्षित कर लिया गया है. जैसे ही धन स्वीकृत होगा, निर्माण कार्य शुरू करा दिया जायेगा.

आठ फीसदी बढ़ सकते हैं पेट्रोल, डीजल के दाम

मुंबई। अगले तीन-चार महीनों में पेट्रोल की कीमत में पांच से आठ फीसदी और डीजल की कीमत में छह से आठ फीसदी की वृद्धि होगी। क्योंकि पिछले हफ्ते तेल उत्पादक देशों के संघ ओपेक ने कच्चे तेल के उत्पादन में रोजना 12 लाख बैरल (एमपीबीडी) की कटौती का फैसला किया है।

क्रिसिल के बयान में कहा गया है, ओपेक के इस कदम के कारण कच्चे तेल की कीमतें मार्च 2017 तक बढ़कर 50-55 डॉलर प्रति बैरल हो सकती हैं। और अगर यह बढ़कर 60 डॉलर प्रति बैरल तक हो जाती है (जैसा कि कुछ लोगों का मानना है), तो पेट्रोल की कीमत 80 रुपये और डीजल की कीमत 68 रुपये हो सकती है। लेकिन ओपेक के इस समझौते की सफलता इसके पालन पर निर्भर करती है।
बयान में कहा गया है, जहां तक घरेलू मांग का सवाल है, नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर कम हुई है, जिसके कारण पेट्रोल-डीजल के उपभोग में कमी आई है, लेकिन एक बार जब बाजार में दुबारा पर्याप्त संख्या में नकदी आ जाएगी तो इसकी मांग जोर पकड़ेगी। रपट में कहा गया है कि जैसे ही कच्चे तेल के दाम 50 डॉलर से ऊपर जाएंगे, वैसे ही अमरीकी शेयर बाजार के निवेशकों के लिए तेल कंपनियों के शेयर फिर से व्यवहार्य हो जाएंगे। 

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।