ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

हमारे बारे में

तेजी से बदलती दुनिया के इस दौर में इन्टरनेट क्रांति ने अपनी शक्ति से सबको चकित कर दिया है . इस ताकत की वजह से मीडिया संसार में जबरदस्त बदलाव की बयार बह रही है .कहने का मतलब कि मीडिया का एक नया स्वरुप उभर कर सामने आया है .
मुख्य धारा की पत्रकारिता यानि पारम्परिक मीडिया ,जैसे समाचार–पत्र तथा रेडियो आदि अपना आकर्षण खो चुके हैं . इसका एक कारण अपने पाठकों व दर्शकों को ‘निष्क्रिय उपभोक्ता’ बनाकर रखना भी है .मानव प्रकृति के मन में हमेशा कुछ नया जानने और समझने के साथ कुछ कर गुजरने कि उत्कंठा . लोग अपने इर्द-गिर्द से लेकर दुनिया के किसी भी कोने में इस वक़्त क्या घटित हो रहा है , जानना चाहते हैं . जिज्ञासा के इस अंतर्विरोध को सुलझाने में इन्टरनेट माध्यम सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है . खासतौर पर अपनी भाषा एवं बोली में जानकारी पाने की ललक काफी बढ़ी है .
यही कारण है कि भारत के हिंदी भाषी राज्यों के अलावा विश्व में इन्टरनेट की तकनीक को समझने एवं अपनाने की चाहत बढ़ी है . आलम यह है कि आज हर आदमी चाहे वो नेता हो या प्रशासनिक सेवा से जुड़े अधिकारी , व्यापारी , वकील ,डाक्टर अथवा युवा छात्र समुदाय , आम लोगों से जुड़े मुद्दों की समग्र जानकारी तुरंत पाना चाहते हैं . पारम्परिक मीडिया उनकी जानने की इस भूख को मिटाने में असफल सिद्ध हो चुका है .सामाजिक ,राजनीतिक एवं सरकारी नीतिगत प्रक्रियाओं कि सम्पूर्ण व विस्तृत सुचना पर अपनी तत्काल प्रतिक्रिया और विचार देना परम्परागत मीडिया के लिए संभव नहीं हो पा रहा है .इन्टरनेट मीडिया के दुतरफा सवांद और त्वरित टिप्पणी की प्रक्रिया ने इस माध्यम को काफी लोकप्रिय बना दिया है .जाहिर है इन्टरनेट समाचार माध्यम ही उनकी इस भूख को मिटा सकता है .
कई वर्षों के सामाजिक और तकनीकी अनुसंधान के बाद नवगछिया समाचार कलात्मक स्वरुप में 24 घंटे चालू रहने वाली एक ऐसी हिंदी समाचार वेबसाइट है ,जिसमें ताजातरीन घटनाओं के समाचारों पर कोई भी व्यक्ति जब चाहे तब अपने विचार या टिप्पणियों को बेझिझक दोटूक शब्दों में व्यक्त कर सकता है . लोकतान्त्रिक भारत देश के शहरी और ग्रामीण नागरिक अपनी आवाज उठाने एवं देश ही नहीं बल्कि दुनिया का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं .

कोई टिप्पणी नहीं:

इस गैज़ेट में एक त्रुटि थी.

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

इस गैज़ेट में एक त्रुटि थी.

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।