ब्रेकिंग न्यूज

*** *** भागलपुर: ट्यूशन पढ़कर लौट रही छात्रा का अपहरण, घटना गोराडीह थाना क्षेत्र की, छात्रा के पिता ने 4 लोगों पर लगाया अपहरण का आरोप. *** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, *** आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए लगभग 10 लाख पहुंच चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** ***

सोमवार, 11 सितंबर 2017

खास खबर : चीफ सेक्रेट्री IAS अंजनी कुमार सिंह बनेंगे बिहार के नये शिक्षा मंत्री !

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN),नई दिल्‍ली : दिल्‍ली के पावर कॉरीडोर में चर्चा बहुत तेज है. बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार नया प्रयोग करने जा रहे हैं . खबर के मुताबिक बिहार के मौजूदा चीफ सेक्रेट्री अंजनी कुमार सिंह को
वीआरएस/रिटायरमेंट के तुरंत बाद बिहार का नया शिक्षा मंत्री बनाया जा सकता है . दरअसल, नीतीश कुमार बिहार के एजुकेशन सिस्‍टम में तेजी से सुधार को लेकर बड़ी तैयारी में लगे हैं . इसके लिए उन्‍हें अनुभव के साथ तेज चाल में काम करने को टीम की जरुरत है .
चीफ सेक्रेट्री अंजनी कुमार सिंह को नीतीश कुमार का बेहद भरोसेमंद अधिकारी माना जाता है . आईएएस अधिकारी के तौर पर वे सेवा से 28 फरवरी 2018 को रिटायर करेंगे . लेकिन पावर कॉरीडोर की चर्चाओं को मानें तो रजामंदी के साथ वे पहले भी वीआरएस ले सकते हैं . राजनैतिक नजरिये से बिहार विधान परिषद में सीट की वैकेंसी देखी जा रही है . दरअसल,जब अंजनी कुमार सिंह मंत्री बन जायेंगे,तो उन्‍हें छह माह के भीतर बिहार विधान मंडल के किसी सदन का सदस्‍य बन जाना अनिवार्य होगा . 
चीफ सेक्रेट्री बनने के पहले अंजनी कुमार सिंह शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव रह चुके हैं. उनके समय में कई बड़े फैसले शिक्षा विभाग में लिए गए . नीतीश कुमार ने शिक्षा विभाग में प्रधान सचिव के तौर पर मदन मोहन झा और अंजनी कुमार सिंह के प्रयोग को सदैव सराहा भी है . मदन मोहन झा का असामयिक निधन हो गया था . स्‍मृति में बिहार के शिक्षा विभाग के सेक्रेटेरिएट में स्थित कान्‍फ्रेंस कक्ष को उनके नाम किया गया है .
कहा जा रहा है कि मुख्‍य मंत्री नीतीश कुमार ने 2017 के मई महीने में ही शिक्षा विभाग के संबंध में आगे का प्‍लान तैयार कर लिया था . तब बिहार बोर्ड की परीक्षा में फर्जी टॉपर गणेश को लेकर लेकर सूबे की देश भर में लगातार दूसरे साल फजीहत हो रही थी . इस मौके पर ही सिस्‍टम में भूल को स्‍वीकारते हुए नीतीश कुमार ने कहा था कि वे चुनौतियों को भविष्‍य में अवसर के रुप में बदलना जानते हैं . तब कांग्रेस कोटे से बिहार में शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी थे,सो कोई बड़ा बदलाव मंत्री के तौर पर नीतीश कुमार नहीं कर सके .
जुलाई 2017 में जब नीतीश कुमार ने राजद-कांग्रेस से महागठबंधन तोड़ कर भाजपा के साथ बिहार में नई सरकार बनाई तो जदयू के नेता कृष्‍णनंदन वर्मा को बिहार का शिक्षा मंत्री बनाया गया . वर्मा लो प्रोफाइल वाले व्‍यक्ति हैं . ऐसे में,नीतीश कुमार के फैसले पर सबों को आश्‍चर्य भी हुआ . लेकिन नीतीश कुमार के प्‍लान का सीक्रेट अब खुल रहा है . बताते चलें कि वर्मा को अभी पिछले दिनों फिर से लॉ डिपार्टमेंट की जिम्‍मेवारी सौंपी गई है . ऐसे में जब वर्मा से शिक्षा विभाग से वापस लिय जाएगा तो वे लॉ डिपार्टमेंट के मंत्री बने रहेंगे .

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।